What is Web Hosting in Hindi - Types of web hosting - हिंदी में

Web hosting को एक प्रकार की service कहते हैं, जिससे कि हम अपनी website को internet में upload करने की सेवा प्रदान करती है। वेबसाइट होस्टिंग के लिए हमको powerful server चाहिए होता है जो की हमेशा connected होना चाहिए (इंटरनेट से)हमेशा इंटरनेट से connected होना चाहिए ताकि हमारी वेबसाइट user के लिए 24×7 कनेक्ट रह सके ।


आप किसी भी website को internet पर देखते हैं वो Web hosting की वजह से होती हैं कोई भी website internet का platform Web hosting होता है यदि आप ये जानना चाहतें हैं कि वेबसाइट कैसे बनता है और आप कोई वेबसाइट बनाने चाहतें हैं, तो आपको वेब होस्टिंग के बारे में जानकारी होना बहुत जरूरी है ।

websites को Internet मे जगह देने की सेवा प्रदान करने का काम web hosting करता है। यही वजह है कि वेब होस्टिंग internet world में websites host करने का काम करता है ।

What is Web Hosting in Hindi - Types of web hosting

वेब होस्टिंग को हम internet का healper कह सकतें हैं क्योंकि सभी अपनी वेबसाइट को best बनाने के लिए इंटरनेट पर एक अच्छी web hosting ढूढ़तें हैं ।

आज हम इस पोस्ट में पता करेंगे कि वेब होस्टिंग क्या होता है?( What is Web Hosting in Hindi) में जानकारी देंगे और इसके साथ बताएंगे कि ये कितने ये कितने प्रकार होती है - Types of web hosting in hindi और ये कैसे काम करता है ? और इसके क्या -क्या Basic features होते हैं? Hosting और domain में क्या different है? आदि जानकारी ।


वेब होस्टिंग क्या है? (What is web hosting in Hindi me?)

web hosting in hindi,Types of web hosting,होस्टिंग अर्थ, होस्टिंग मीनिंग इन हिंदी, होस्ट का हिंदी मीनिंग, वेस्ट वेब डोट इन, Web in, HostGator, ईमेल कैसे काम करता है, Blog Kaise Banaye, Hostinger, GoDaddy,
What is Web Hosting in Hindi 


ज़ब आप कोई blog या website बनाते हैं उसके सारे contents जैसे- videos, pages,images आदि को store करने के लिए सर्वर में रखना होगा ताकि अन्य लोग इंटरनेट के माध्यम से आपके blog या वेबसाइट को access कर पायें।

Web hosting एक service की तरह वर्क करती है जिसके द्वारा हम अपनी website को internet पर upload करने का ऑप्शन available करते है ।

हमें हमेशा powerful server की जरुरत पड़ती ज़ब हम वेबसाइट होस्टिंग करते हैं. और  server internet connected होना चाहिए   ताकि किसी भी user के लिए वेबसाइट 24 घंटे बिना किसी प्रॉब्लम के उपलब्ध हो सके ।

इनका server mantanance cost बहुत ज्यादा होता है अतः हम सर्वर को maintain नहीं कर सकतें. इसलिए हम अपनी वेबसाइट होस्टिंग के लिए professional web hosting companies की मदद लेनी पड़ती है इन वेब होस्टिंग कंपनियों खुद का technical staffs जैसे - powerful server,technology आदि होते हैं ।

ये बहुत सी महंगी hosting service company को monthly package के हिसाब से खरीद लेती हैं, इसलिए user इनकी सेवा से वेबसाइट होस्ट कर पाते हैं।



वेब होस्टिंग कितने प्रकार के होते हैं? Types of web hosting in Hindi me


Web hosting को बहुत से प्रकार में होती है ज़ब कोई user वेबसाइट बनाता है, तो अपनी जरूरत के अनुसार web होस्टिंग खरीदता है। ये मुख्य रूप से 4 प्रकार में होती है : 

वेब होस्टिंग के प्रकार:

  • Shared
  • Dedicated
  • VPS
  • Cloud

चलिए अब इन्हें थोडा सा अच्छी तरह से समझते हैं:


Shared Hosting : 

जैसा की आपको नाम से मालूम हो गया होगा इस प्रकार की होस्टिंग होती है जिसमें कई सारे website एक सर्वर में use हो रही होती हैं ।

चूंकि, इसमें कई websites मिलकर एक ही server के RAM, CPU और space का use करते हैं इसलिए ये होस्टिंग ओर दूसरी होस्टिंग के मुकाबले आपके लिए काफ़ी सस्ती पड़ती है ।

जैसे आप कहीं जा रहें होते हैं तब अपनी car का use करेंगे और इसके लिए आपको अधिक पैसे खर्च करने पड़ेंगे,वहीं आप किसी bus या पब्लिक सर्विस से यात्रा करते हैं तो आपकी काफ़ी बचत होगी ।

यात्रा के टाइम बस में पब्लिक अधिक है तो आपको मुश्किल हो सकती हैं ठीक इसी तरह शेयर्ड होस्टिंग में में कभी-कभी कुछ टेक्निकल मुश्किल आ जाती हैं लेकिन शेयर्ड होस्टिंग इनको सही कर लेती है ।

आपने देखा होगा ज़ब किसी website में अधिक traffic आने से website स्लो चलती है और हो सकता है किसी technical errors दिखाई देने से visitors को मुश्किल आ सकती हैं।


Shared Hosting किनके लिए best होती है :

यदि आप छोटा business करते हैं और आपकी नई शुरुआत है तो आप इस होस्टिंग का चुनाव कर सकतें है ये आपके लिए बेहतर रहेगी. Blog बनाने वालो के लिए ये perfect hosting रहेगी. Shared hosting में आपको कई सारे tools और plugins मिल जाते हैं जिसेसे आपको अपनी वेबसाइट होस्ट करने में मुश्किल नहीं आती है. आप इसे बड़ी आसानी से install कर सकते हैं।


Dedicated Hosting :

इसमें आप पूरे सर्वर का use करते हैं । इसके अनेकों बेनिफिट हैं इसलिए ये अन्य web होस्टिंग के तुलना में बहुत महंगी होती है चुकीं पूरे सर्वर का use करने का कारण इस पर आपका नियंत्रण होता है और इसमें website की speed fast होती है इसके आप opertating system जैसे अन्य settings का use करके मन मुताबिक रख सकतें हैं।

डेडिकेटेड होस्टिंग का  फायदा ये है कि इसमें ज्यादा ट्रैफिक होने से आपकी website में फर्क नहीं आता और आप अपनी website speed slow होने से बचा सकतें हैं । इसी वजह से आपकी वेबसाइट fast लोड होगी और performance increase करेगी ।

जरूर पढ़ें :-


Dedicated Hosting किनके लिए best होती है :

यदि कोई website अधिक traffic आने लगे ज़ब उसे Dedicated Hosting use करने की जरूरत होती है । मान लें आपकी कोई E-commerce website है और उस पर ट्रेफिक अधिक आ रहा है, तो इसके लिए आपको ये hosting use करना बेहतर होगा।


VPS (Virtual Private Server) Hosting : जानकारी


ये हमने ऊपर बताई गई  dedicated hosting और shared Hosting दोनों का मिश्रण समझ सकते हैं। इस टेक्नोलॉजी में आपको एक dedicated server मिलता है जिसे हम virtual server कहते हैं जो physical नहीं होता

आईये इसके बारे में विस्तार से जानते हैं :

यहां एक सर्वर होता है जिसमें कई सारे virtual servers में अलग-अलग बाँट दिया जाता है इसमें एक Website पर एक virtual servers होता है जिसको आप पूरा अधिकार जमा सकतें हैं ।

इसमें आपको computing power और अधिक space के साथ bandwidth मिलता है इसलिए ये shared hosting के मुकाबले अधिक स्ट्रांग है. और VPS hosting और शेयर्ड होस्टिंग की तुलना करें तो इसमें fast  page load time होता है जिससे आपको Best Websites performance मिल जाता है ।

इसकी परफॉरमेंस डेडिकेटेड होस्टिंग से अधिक नहीं होती लेकिन शेयर्ड होस्टिंग के मुकाबले ये  best होस्टिंग है । आप अपनी वेबसाइट के volume में traffic ज्यादा होने पर कुछ सेटिंग कर सकतें हैं लेकिन आपको एक बात बता दूं कि VPS hosting में कुछ limitations होती हैं जिससे आप अपनी वेबसाइट में नियंत्रण कर सकतें हैं ।


VPS होस्टिंग को कौन use कर सकता है?

जिनका वेबसाइट ट्रैफ़िक बहुत कम है वह छोटी वेबसाइटें भी VPS होस्टिंग का फायदा उठा सकती हैं। यदि आपको लगता है की आपकी साइट की लोडिंग स्पीड कम हो रही है, तो आप एक shared hosting की तुलना में VPS होस्टिंग को चुनना बेहतर होगा।


Cloud Hosting:


VPS server और डेडिकेटेड सर्वर के साथ समस्या यह होती है, कि आपके पास resources का अभाव रहता है यहां पर आपको storage स्पेस और capacity की एक limit तय होती है। लेकिन इसमें बहुत कम ही वेबसाइट limitation crosss कर पाती हैं तभी देखा गया है कि आपकी वेबसाइट का contents viral होने से वेबसाइट का ट्रेफिक अचानक बढ़ता है तब आपके बस में कुछ भी नहीं रहता ।

लेकिन आपको इसमें कोई समस्या नहीं आएगी क्योंकि आपकी समस्याओं का solution क्लाउड होस्टिंग है। यहां पर एक server तो दूर  बल्कि अनेकों सर्वर एक साथ मिलकर वेबसाइट होस्टिंग का काम करते हैं ।

पिछले कुछ सालों में क्लाउड होस्टिंग को अन्य hosting से काफ़ी popular माना गया था और आगे भी इसका use क्या जा रहा है। क्लाउड होस्टिंग बिजनेस लोगों क़ी नजर में पहली पसंद है। 

यदि आपकी वेबसाइट पर high volumn traffic आ रहा तो क्लाउड होस्टिंग server में आपकी वेबसाइट पर कोई फर्क नहीं आएगा और website loading speed प्रभावित नहीं होगी ।

हालाँकि ये कुछ dedicated hosting क़ी तरह होती है जिसमें सर्वर पर आपका control नहीं होता है,यानि आप किसी विशेष सॉफ़्टवेयर install करना मुश्किल होता है। इसके साथ आप इसकी सर्वर सेटिंग्स चेंज  नहीं कर पाते ।

यदि आपको लगता है कि आपकी वेबसाइट नार्मल है और आपके पास टेक्निक ऑप्शन की आवश्यकता नहीं है, तो आपके लिए क्लाउड होस्टिंग ही best रहेगी ।


Cloud hosting को कौन use कर सकता है?

flexible hosting  की वजह से Cloud hosting हर user का solution है । आप इसमें अपनी जरूरत की अनुसार मेमोरी और डिस्क स्पेस को कम या ज्यादा कर सकतें हैं. इसको किसी organizations के लिए perfect बताया गया है इसलिए तो बहुत से website owners अपनी वेबसाइट के ट्रेफिक की कारण समस्या होती है, तो वह Cloud hosting का use करते हैं. उनके लिए यह बहुत ही उपयोगी है।


वेब होस्टिंग कैसे काम करता है -how web hosting works in Hindi ?


पहले web hosting के लिए एक या दो कंपनी हुआ करती थी लेकिन आज के जमाने में बहुत web hosting company  मार्केट में आ गयीं हैं जिनको द्वारा आप वेबसाइट होस्ट  करने में help मिलती है और इसके लिए आपसे वो per month charge लेते हैं। 

Website के सभी HTML pages,videos,images आदि को server मे upload करने पर हम इन्टरनेट के माध्यम से कहीं पर भी वेब एड्रेस(जो domain होता है )देख सकतें हैं ।

ज़ब कोई भी user internet ब्रॉउज़र में अपनी वेबसाइट ओपन करने के लिए वेब एड्रेस डालता है तब computer उस server से कनेक्ट हो जाता है जहाँ पर आपने वेबसाइट की होस्टिंग की है। अब server उस HTML pages और contents जैसे - pages,videos,images आदि को visitor के ब्राउज़र पर display कर देता है । इसमें सारा खेल server का होता है ।

ये मैंने आपको web hosting के प्रकार बतायें हैं अब हम आपको बतायंगे की इंडिया मे कौन सी  popular web hosting चल रहे है जिनको लोग use कर रहें हैं


Best Popular web hosting in all India hindi :


हमने आपको कुछ जानकारी दी कि होस्टिंग क्या है और उसके क्या प्रकार होते हैं और कौन use कर सकता है.
अब हम आपको इंडिया की  Best Popular web hosting के बारे में जो बहुत ही फेमHostinger

  • Hostinger
  • HostGator
  • GoDaddy

Hostinger-

Hostinger भारत की बेस्ट होस्टिंग कंपनी है जो लोगों की वेबसाइट होस्ट करती है ये एक affordable hosting कंपनी है जिसमें fast वेबसाइट लोडिंग होती है इसमें आप लाइव चैट या ईमेल , कस्टमर होस्टिंग फोन का 24/7 suppport लें सकतें हैंइसमें आपकी कम्लेंट जल्दी हल होती है ।

HostGator :

HostGator को एक अच्छी वेबसाइट माना जाता है होस्टिंग के लिए ये एक affordable hosting कंपनी में से एक है। इसमें fast वेबसाइट loading time लगभग 99.9% तक होता है । इसमें आप ईमेल या लाइव चैट, कस्टमर होस्टिंग फोन का 24/7 suppport मिलता है यदि आप complent से संतुष्ट नहीं हैं, तो 45 दिनों के भीतर complete refund भी मिल जाता है ।


GoDaddy :

इसको कौन नहीं जानता GoDaddy को इंडिया में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में use किया जाता है। सबसे पहले जो होस्टिंग कम्पनी आई थी वो GoDaddy web hosting company थी. अधिकतर लोग GoDaddy में अपनी वेबसाइट होस्ट करते हैं. बहुत से नये bloger GoDaddy में अपना डोमेन ad करते हैं । GoDaddy आपको कुछ पैसे में आपको वेबसाइट होस्ट करने की सेवा देता है अधिकतम लोग GoDaddy से ही domain buy करते हैं ।

वेब होस्टिंग और डोमेन में क्या अंतर है? Domain Vs Hosting in Hindi me jankari?


वेब होस्टिंग और डोमेन नाम दो अलग अलग पहलू हैं, लेकिन बहुत सी कंपनी ऐसी होती जो डोमेन और होस्टिंग दोनों प्रोवाइड करते हैं. उदाहरण के लिए - blu host,Hostinger, HostGator,GoDaddy जैसी होस्टिंग कंपनी  ऑनलाइन मार्केट में पॉपुलर हैं, लेकिन इसमें GoDaddy को world का डोमेन रजिस्ट्रार कहा जाता है जो  डोमेन और web होस्टिंग दोनों की सेवा प्रदान करता है।

और भी वजह है कि लोग होस्टिंग और डोमेन के बीच असमंजस में पड़ जाते हैं । उन्हें ये पता नहीं होता कि होस्टिंग क्या है और domain क्या है ।

हम सरल बातो में कहे तो : "एक डोमेन नेम को आप अपने घर का adress समझें :, जबकि web hosting आपके घर के रूम की तरह हैं जिसमें आप अपना जरूरत का सामान रख सकतें हैं ।”

एक domain name आपकी वेबसाइट का ip address होता है जिसके द्वारा लोग आपकी वेबसाइट पर आसानी से पहुंच सकेंगे इसमें storage के लिए मेमोरी, कंप्यूटर हार्ड डिस्क आदि का use होता है जिसे web hosting कहते हैं ।


यह भी पढ़ें:


होस्टिंग में क्या-क्या All Features होते हैं?


आप ज़ब भी होस्टिंग खरीदे,तो सबसे पहले आपको कुछ basic features देखना जरूरी है। ये hosting company, hosting type, और plan के अनुसार डिफरेंट हो सकतें हैं । होस्टिंग चुनने से पहले इन सब पहलुओं पर ध्यान देना पड़ता है । चलिए इसके basic features कौन से हैं जानते हैं :


Bandwidth: बैंडविड्थ का काम होता है कि आपकी वेबसाइट और visitors में की बीच की होने वाले transfer data की क्वांटिटी को दर्शाता है. अधिक बैंडविड्थ से आपके user बिना मुश्किल की access कर सकते हैं। low bandwidth में आपकी वेबसाइट speed slow होने लगती है जिससे visiters को परेशानी होती है ।


Uptime: ये Features वेब होस्टिंग में नंबर 1 है जिसे वेब होस्टिंग provider  की inportent खासियत कह सकतें हैं। बहुत सी कंपनियां के द्वारा guarenteed uptime दिया जाता है जिसका मतलब आपकी वेबसाइट visitors के लिए 99.9 प्रतिशत समय उपलब्ध रहेगी।


Storage: हर hosting account में आपको ग्राफ़िक्स,अपने वेब पेज, और अन्य मीडिया फाइल्स आदि स्टोर करने करने के लिए disk space एविलेबल होना चाहिए इसलिए इन सबको नजर में रखते हुए best hosting plan का चुनाव करना चाहिए ।


Email: इसको web hosting की सेवा की साथ ईमेल होस्टिंग का सहारा लें सकतें हैं जिससे आप अपने लिए या अन्य के लिए custom email address बनाने का ऑप्शन मिलता है । mail भेजनें की साथ इसमें अन्य features जैसे address book,virus & spam filters, calander आदि होते हैं ।

Backups: होस्टिंग मे यह features भी होना जरूरी है क्योंकि आपने देखा होगा कि कभी- कभी कांप्यूटर से आपकी फाइल्स डिलीट हो जाती है जो data loss होता है । आपकी मुश्किल बढ़ती है ऐसा ही server में भी होता है। server में एक कंप्यूटर होता है जिससे data loss होने का चांस होता है इसलिए इसलिए इस परेशानी को देखते हुए hosting providers कि तरफ से backup ऑप्शन एविलेबल कर दिया गया है। जिससे आप backup लेकर अपनी वेबसाइट का data loss होने से बचा सकतें हैं।


Customer Support : आपकी वेबसाइट hosting कितनी भी अच्छी हो लेकिन लेकिन इसमें Customer Support नहीं है तो आपका सब काम बेकार है, क्योंकि आपको पता होना चाहिए होस्टिंग कंपनी आपका फोन या ईमेल Support है कि नहीं. आपको ये पता लगाना चाहिए Customer Support आपके लिए किस टाइम एविलेबल होगा जिससे आप भविष्य में होने वाली होस्टिंग लॉस से बच सकतें हैं। किसी परेशानी में Customer Support नहीं करेगा, तो आपको मुश्किल आ सकती हैं।


हम वेब होस्टिंग को कहाँ से खरीदें?


वैसे तो इन्टरनेट में कई hosting providers मिल जाते हैं लेकिन उनका होस्टिंग plan अलग- अलग हैंअब आपको अपनी जरूरतनुसार अपना best hosting plan चुनना चाहिए ।

यदि आपके पास पैसे कम है या कम पैसे का होस्टिंग plan लेना चाहतें हैं, तो आपको मैंने ऊपर बताया है फिर भी अपनी नॉलेज के अनुसार अच्छी quality वाले hosting companies से cheap price में होस्टिंग plan लें सकतें हैं जिसमें कुछ होस्टिंग अधिक पैसे में और कम पैसे में मिल जाते हैं। आप इनके बेनिफिट को देखकर अच्छी होस्टिंग का चुनाव कर सकते हैं।

आगे पढ़ें -


FAQ For Web Hosting in Hindi या FAQ For Types of web hosting


Q. वेब होस्टिंग के कितने प्रकार होते हैं?

Ans. वेब होस्टिंग के 4 प्रकार होते हैं 

  1. Shared Hosting
  2. Dedicated Hosting
  3. VPS Hosting
  4. Cloud Hosting
इन सबको मिलाकर web होस्टिंग बनता है।


Q. GoDaddy क्या है?

Ans. GoDaddy एक पॉपुलर होस्टिंग कंपनी है जो आपकी वेबसाइट होस्ट करने के साथ साथ domain खरीदने और बेचने का काम करती है। अधिकतर लोग domain buy करते हैं। GoDaddy दुनिया की सबसे बड़ी होस्टिंग प्रोवाइडर कंपनी बन गया है ।


Q. Web hosting क्या है ?

Ans. Web hosting वह प्लेटफार्म होता है जिसमें आप किसी वेबसाइट को internet पर देखते हैं और उसी को हम website internet का platform Web hosting कहते हैं। वेबसाइट बनाने के web होस्टिंग क़ी नॉलेज होना बहुत जरूरी है ।


Q. Hostinger क्या है?

Ans.ये भारत की बेस्ट होस्टिंग कंपनी है जो Hostinger web hosting के नाम से जानी जाती है। Hostinger affordable hosting कंपनी है। इसमें भी आप वेबसाइट होस्ट कर सकतें हैं ।


Q. HostGator क्या है?

Ans. दोस्तों, hostgator होस्टिंग क़ी दुनिया क़ी एक web hosting कंपनी है जिसमें आपको chep price में web hosting मिल जाता है।  बहुत से लोग सस्ता वाला web होस्टिंग पर काम करना पसंद करते हैं ताकि वे कम खर्चे में अपनी वेबसाइट run करा सकें इसके लिए आपको hostgator होस्टिंग ही लेना चाहिए ।


Q. ईमेल कैसे काम करता है?

Ans. ईमेल को text में लिखा हुआ एक मैसेज जैसा होता है जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को internet के माध्यम से भेजा जाता है। इसमें text के रूप में बाइनरी फाइलें जैसे - वीडियो फाइल, पीडीऍफ़ फाइल, ऑडियो फाइल आदि भी send क़ी जाती हैं।


Q. Blog Kaise Banaye?

Ans. सबसे पहले www.Blogger.com पर  जाकर Gmail account से sign up करें. फिर आपको Google+ Profile और Blogger Profile दोनों में से किसी एक को select करे और Create Blog पर क्लिक करें.
फिर blog का अच्छा सा टाइटल दीजिये
फिर अपने blog का adress दीजिये उसके बाद अपनी मनपसंद theme का चुनाव करें और बस आपका blog तयार है।


Q. Hosting मीनिंग इन हिंदी क्या है?

Ans. Hosting का हिंदी अर्थ होता है “मेजबानी” और मेजबान ऐसे लोगों को बोला जाता है, जो हमारे घर पर आता है और जिसका हम स्वागत करते हैं। ठीक उसी तरह "Web Hosting का अर्थ होता है, कि किसी वेबसाइट की मेजाबानी करना यानि internet पर हमारी वेबसाइट की जो देख-रेख और मेजबानी कर रहा है उसी को होस्टिंग कहते हैं "।

हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा लेख What is Web Hosting in Hindi और Types of web hosting की जानकारी कैसी लगी दोस्तों जानकारी अच्छी लगी तो अपने दोस्तों, फैमिली, रिस्तेदारो को सोशल मिडिया पर फेसबुक, ट्विटर आदि पर share करना नहीं भूलना और लेख से सबंधित कोई भी सवाल जवाब है तो कमेंट बॉक्स में जरूर देना में आपका रिप्लाई जरूर करूंगा । धन्यवाद ।

इसे भी पढ़ें -
✍ अजीत सिंह

दोस्तों, मैं Blogger हूँ ओर Blogmeto.Com मेरा Blog है और मुझे इस Blog के माध्यम से लोगों की Help करना बहुत अच्छा लगता है. इस Blog पर Internet, Computer,पैसे कैसे कमाएं (Make Money Online), website से पैसे कैसे कमाएं, seo कैसे करें,Technology, Youtube और Adssence की जानकारी के साथ-ही-साथ Inspiration Life Stories सम्बंधित सभी उपयोगी जानकारी Hindi भाषा में शेयर की जाती है.

1 Comments

Previous Post Next Post